उत्तराखंड जरा हटके नैनीताल

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने  साप्ताहिक जनसुनवाई के तहत भीमताल और भवाली क्षेत्र में निर्माण कार्य एवं लाभार्थी परक विकास योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया।

Spread the love

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने  साप्ताहिक जनसुनवाई के तहत भीमताल और भवाली क्षेत्र में निर्माण कार्य एवं लाभार्थी परक विकास योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया।

 

रोशनी पांडे प्रधान संपादक

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने गुरुवार को साप्ताहिक जनसुनवाई के तहत भीमताल और भवाली क्षेत्र में निर्माण कार्य एवं लाभार्थी परक विकास योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया। जिसमें जिलाधिकारी ने मुख्य रूप से भवाली सैनेटोरियम के समीप जल स्रोतोें का निरीक्षण, पंप हाउस, निमार्णाधीन रोडवेज स्टेशन की पार्किंग और काम्पलैक्स, जसूली देवी धर्मशाला,अमृत सरोवर, शिप्रा नदी और भीमताल में उद्यान नर्सरी, पाण्डेगांव में साई मन्दिर के पास निर्माणाधीन केन्द्रीय विद्यालय के भवन का निरीक्षण किया। इसके बाद विकास भवन भीमताल में जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर जनसमस्याओं का निस्तारण किया।

सैनेटोरियम के पास जाबर नाले के दो जल स्रोतोें का निरीक्षण के दौरान उन्होंने जल संस्थान और निगम के अधिकारियों को बह रहे पानी को संचय कर टैंक बनाने के निर्देश, उन्होंने कहा कि जल स्रोतों का पानी संचय कर जलापूर्ति योजना से लिंक करने से भवाली नगर में पेयजल की समस्या का समाधान में सहायता मिलेगी, साथ ही गर्मियों में होने वाली किल्लत से ग्रामीणों को राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं आय़ुक्त दीपक रावत ने जल संस्थान, जल निगम आदि अधिकारियों के साथ जल जीवन मिशन (द्वितीय फेस) के कार्यों की समीक्षा की।

भवाली कोतवाली के समीप करीब डेढ़ साल से जल संस्थान के खराब पड़े पंप हाउस का निरीक्षण किया। जल संस्थान के अधिकारियों को पम्प को सुचारु करने के लिए किसी हाइड्रोलौजी विषय विशेषज्ञ से सर्वे करने के निर्देश दिए।

भवाली चौराहे की पार्किंग निरीक्षण के दौरान आर एम रोड़वेज को निर्माणाधीन पार्किंग के द्वितीय चरण में व्यवसायिक दुकानों के प्रस्ताव की पूरी जानकारी उपलब्ध करने की बात कही। पार्किंग बनने से नगर में जाम क़ी समस्या दूर होगी।

जसूली देवी धर्मशाला,संग्रहालय में निरीक्षण के दौरान एसडीएम कोश्याकुटोली को केइमवीएन और नगर पंचायत से समन्वय कर एक माह के भीतर संग्रहालय को सुचारु रूप से संचालित करने के निर्देश दिए। इसके बाद जिलाधिकारी ने देवी मंदिर के समीप 11करोड़ की लागत से बन रहे निर्माणाधीन मल्टी स्टोरी पार्किंग और काम्प्लेक्स का निरीक्षण किया। उन्होंने संबधित अधिकारियों और ठेकेदार से पार्किंग की जानकारी ली। कॉमलेक्स में दुकानों के आवंटन के बारे जानकारी ली।

यह भी पढ़ें 👉  जिलाधिकारी ने क्षेत्र पंचायत बैठकों का रोस्टर निर्धारित किया है।

भीमताल में जिलाधिकारी ने उद्यान नर्सरी का निरीक्षण किया। पाण्डेगांव में साई मन्दिर के पास निर्माणाधीन केन्द्रीय विद्यालय के भवन का निरीक्षण किया। उन्होंने एसडीएम को निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यालय के स्टाफ के लिए आवासीय भवनों के लिए विद्यालय की दो किलोमीटर परिधि के भीतर स्थल चयन करने की बात कही।

 

 

 

इसके बाद जनप्रतिनिधि के साथ भीमताल में समस्याओं के संबंध में बैठक ली। जनप्रतिनिधियों ने अवगत कराया कि पीक सीजन के साथ ही आमदिनो में भी शहर में जाम की समस्या बनी रहती है। जिलाधिकारी ने शहर में भूमि की उपलब्धता के आधार पर पॉकेट पार्किंग के निर्माण की बात कही। इसके लिए राजस्व, स्थानीय निकायों को शहर और उसके आस पास के लगते क्षेत्रों में अवस्थित सरकारी भूमि और परिसंपत्तियों का सर्वे aut जीआईइस मैपिंग करने के निर्देश दिए। कहा कि 15 दिनों के भीतर जीआईएस मैपिंग कराई जाए। इससे सरकारी भूमि की उपलब्धता की जानकारी रहेगी और अच्छी परियोजनाओं में भूमि का उपयोग किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें 👉  चोरगलिया पुलिस ने एक व्यक्ति को 50 पाउच अवैध कच्ची शराब के साथ किया गिरफ्तार

 

 

 

क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और ग्राम प्रधानों ने बिजली, पानी सड़क आदि से जुड़ी समस्याएं जिलाधिकारी के समक्ष रखी, जिनमें जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को समस्याओं के तत्काल निराकरण हेतु निर्देशित किया ।