उत्तराखंड जरा हटके नैनीताल

“नैनीताल के सभागार में डीएसए मैदान और ठंडी सड़क के विकास के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक में विचार-विमर्श”

Spread the love

“नैनीताल के सभागार में डीएसए मैदान और ठंडी सड़क के विकास के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक में विचार-विमर्श”

रोशनी पांडेय – प्रधान संपादक

जिलाधिकारी वंदना की अध्यक्षता में नैनीताल के सभागार कक्ष में डीएसए मैदान, ठंडी सड़क में सुविधाओं का विकास और सौंदर्यीकरण कार्यों, रैमजे रोड, तल्लीताल मुख्य चौराहे सुधारीकरण के सम्बन्ध में नगर के स्थानीय गणमान्य व्यक्तियों एवं व्यापार मण्डल, होटल एसोसिऐशन के पदाधिकारियों, अधिवक्ताओं व सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक कर विचार-विमर्श किया। उन्होंने कहा कि डीएसए मैदान यहॉ की धरोहर है, जिसमें विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम समय-समय पर होते रहते हैं। मल्लीताल फ्लैट्स के जो भी सौन्दर्यीकरण एवम विभिन्न खेल सुविधाओं के विकास के कार्य किये जाने हैं उन्हें दीर्घकालीन प्लान के तहत बनाने का प्रस्ताव रखा गया। उन्होंने नगरपालिका ईओ को निर्देश दिये हैं कि डीएसए मैदान में वर्तमान स्थापित भवनों की वस्तुस्थिति का डेटा उपलब्ध कराने, कार्यदाई संस्था को सभी हितधारकों के सुझावों के अनुरूप डीपीआर में आवश्यक संशोधन कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए । जिलाधिकारी ने कहा की कार्यों में गुणवत्ता एवं पारदर्शिता बनी रहे तथा सम्बन्धित अधिकारी आपस में समन्वय बनाते हुए कार्य करना सुनिश्चित करें।
दूसरे प्रस्ताव तल्लीताल चौराहे एवं रैमजे रोड के विकास पर विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि तल्लीताल डंाठ के मुख्य चौराहे का चौड़ीकरण का कार्य किया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि पर्यटन सीजन में ट्रैफिक के चलते यहॉ जाम की स्थिति बनी रहती है, चौड़ीकरण के कार्य से वाहनों का आवागमन सुचारू हो सकेगा जिससे नैनीताल आने वाले पर्यटकों के साथ स्थानीय लोगों को भी राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखण्ड की महिलाएं वनाग्नि से जुड़ी चुनौतियों के समाधान में अहम भूमिका निभा सकती हैं राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह।

 

जिलाधिकारी वंदना ने कहा कि नैनीताल की ठंडी सड़क अपने शांत माहौल और वातावरण की वजह से स्थानीय लोगों के साथ यहॉ पर आने वाले पर्यटकों को अपनी आकर्षित करती है। झील के किनारे तल्लीताल से मल्लीताल को जोड़ती यह सड़क हरे-भरे पेड़ों से घिरी है।
उन्होंने कहा कि शहर में पर्यटन कारोबार के साथ वाहनों का दबाव भी बढ़ने लगा है। ऐसे में शहर का ठंडी सड़क क्षेत्र अभी भी शोरगुल से दूर है। शहर के स्थानीय लोंग यहां पहुंच कर झील किनारे शांति का अनुभव करते है। उन्होंने बताया कि ठंडी सड़क क्षेत्र में स्थानीय लोंग द्वारा सुबह व शाम पैदल टहलते हैं साथ ही प्रकृति से नजदीकी का अहसास करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने एआई तकनीक से निर्मित 'राजभवन मैत्री चैटबॉट' का किया लोकार्पण: ज्ञान और नवाचार का नया माध्यम

 

कार्यदाई संस्था एडीबी द्वारा ठंडी सड़क के सुंदरीकरण कार्य का प्रस्तुतिकरण करते हुए सभी को प्रोजेक्ट के कार्यों से अवगत कराया गया । लगभग तीन करोड़ का प्रोजेक्ट ठंडी सड़क के विकास हेतु तैयार किया गया है। ठंडी सड़क के रूट की बात की जाए तो यह लगभग ढेड़ किमी की है। इसमें विभिन्न स्थान पर लाइटिंग, सीसीटीवी कैमरे, वॉल पेंटिंग आदि कार्यों को सम्मिलित किया गया है। जिलाधिकारी ने कार्यदाई संस्था को निर्देश दिए की ठंडी सड़क का मूल स्वरूप यथास्थिति रखते हुए सौंदर्यीकरण का कार्य किया जाए। बैठक में डीएसए मैदान सौन्दर्यीकरण, ठंडी सड़क, रैमजे रोड, तल्लीताल डांठ के चौराहे के सुंदरीकरण के कार्यों पर सभी हितधारकों की राय ली गई।

यह भी पढ़ें 👉  स्पा सेन्टरों में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल ने किया औचक निरीक्षण, अनियमितता पाये जाने पर 83 पुलिस एक्ट के तहत किया चालान।

 

इस अवसर पर सचिव विकास प्राधिकरण पंकज उपाध्याय, सचिव डीएसए अनिल गड़िया, ईओ नगरपालिका आलोक उनियाल, मल्लीताल व्यापार मण्डल के अध्यक्ष किशन सिंह नेगी, तल्लीताल मारूती नन्दन साह, राजेश साह, वरिष्ठ पत्रकार राजीव लोचन साह, रन टू लिव हरीश तिवारी, वरिष्ठ अधिवक्ता नीरज जोशी, न्यू क्लब के जीएल साह, आरएल साह, के साथ ही अन्य अधिकारी एवं नगर के वरिष्ठ गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।