उत्तराखंड क्राइम रामनगर

खनन माफियाओं पर उत्तराखंड सरकार का प्रहार: वन विभाग ने अब तक पांच स्टोन क्रेशरों को किया सीज।

Spread the love

खनन माफियाओं पर उत्तराखंड सरकार का प्रहार: वन विभाग ने अब तक पांच स्टोन क्रेशरों को किया सीज।

 

रोशनी पाण्डेयप्रधान संपादक

 

उत्तराखंड के जनपद नैनीताल और उधम सिंह नगर में खनन माफिया का खूब गोल वाला है और यही कारण रहा है कि माफिया के रसूक के आगे सरकार भी नमस्तक रही है लेकिन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के धाकड़ फसलों की वजह से अब खनन माफियाओं में बौखलाहट देखने को मिल रही है मुख्यमंत्री धामी के निर्देशों के बाद वन विभाग पूरी तरह से एक्शन में दिखाई दे रहा है और वन विभाग अवैध खनन में लिफ्ट सभी माफियाओं पर कार्रवाई करने में जुटा हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  "नेतृत्व और विकास के संग उत्तराखंड बना नंबर वन: सीएम धामी ने  " प्रदेशवासियों को बधाई दी

 

 

 

वन विभाग की टीम ने अब तक पांच स्टोन क्रेशरों को कर दिया सीज। और आगे सभी स्टोन क्रशरो की जांच जारी है इतना ही वन विभाग खनन के अवैध स्टॉक रखने वाले क्रेशरों को तो सीज कर ही रहा साथ ही कोशी नदी से रात के अंधेरे का फायदा उठा कर अवैध खनन करने वाले माफियाओं पर लगाम लगाने कवायद में जुट गया हैं।

यह भी पढ़ें 👉  एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग टीम ने स्कूली बच्चों को नए कानूनों की जानकारी दी: मानव तस्करी, बाल विवाह और साइबर अपराध पर विशेष ध्यान

 

 

 

जिन रास्तो से रात के अंधेरे में अवैध खनन किया जाता है उन रास्तो पर जेसीबी से सुरक्षा खाई खोदकर बंद कर दिया है। ओर सख्त चेतावनी दी गई है कि अगर किसी ने इस खाई को बंद करने की कोशिश की तो उसके खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व सैनिक कल्याण एवम उत्थान समिति द्वारा शहीदो को दी गयी श्रधांजलि।