उत्तर प्रदेश क्राइम

11वीं के दो छात्रों के शव पेड़ पर फंदे से लटके मिले सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

Spread the love

11वीं के दो छात्रों के शव पेड़ पर फंदे से लटके मिले सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

रोशनी पांडेय – प्रधान संपादक

फरीदाबाद अरावली के जंगल में रविवार देर रात 11वीं के छात्रों के शव पेड़ पर फंदे से लटके मिले। मृतकों की पहचान सेक्टर-84 निवासी यश गौतम (16) और सेक्टर-31 निवासी युवराज (16) के रूप में हुई है। दोनों दोस्त रविवार दोपहर घर से घूमने के लिए निकले थे। किसी के पास से सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। सूरजकुंड थाना पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।मृतकों के परिजनों ने बताया कि सातवीं से 10वीं तक दोनों ने एक ही स्कूल से पढ़ाई की थी। कई साल से दोनों का परिवार सेक्टर-31 स्थित स्प्रिंग फील्ड कॉलोनी में रहता था।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल पुलिस का नशे पर वार**SOG/ हल्द्वानी पुलिस की संयुक्त टीम ने चरस की तस्करी कर रहे एक युवक को किया गिरफ्तार 31,550 रुपये भी बरामद।

 

करीब आठ महीने पहले यश के पिता ने सेक्टर-84 स्थित ग्रेटर फरीदाबाद के बीपीटीपी एलिट प्रीमियम सोसाइटी में फ्लैट ले लिया और परिवार के साथ वहां रहने चले गए। युवराज परिवार के साथ सेक्टर-31 में ही रह रहा था। इसके बाद दोनों का 11वीं में अलग-अलग स्कूलों में दाखिला करा दिया गया।रविवार दोपहर करीब तीन बजे यश स्कूटी लेकर सेक्टर-31 में युवराज से मिलने गया और दोनों घूमने की बात कहकर चले गए। रात करीब नौ बजे तक जब दोनों अपने-अपने घर नहीं पहुंचे तो परिजनों की चिंता बढ़ गई।

यह भी पढ़ें 👉  ऊधम सिंह नगर पुलिस ने मोबाइल टावर बैटरी चोरी करने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश, 9 लाख की बैटरी बरामद, तीन शातिर चोर गिरफ्तार

 

दोनों के परिजनों ने एक दूसरे से संपर्क किया और बच्चों के गुम होने की सूचना पुलिस को दी।पुलिस को दोनों के मोबाइल की लोकेशन सिद्धदाता आश्रम के आसपास की मिली। छानबीन के दौरान सड़क से करीब दो सौ मीटर अंदर जंगल में दोनों के शव एक पेड़ से लटके मिले। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिए।

यह भी पढ़ें 👉  कैंची मेले ड्यूटी में आ रहे पुलिसकर्मी के वाहन को कार ने मारी टक्कर,* *घटना पर SSP NAINITAL ने स्वयं अपने घायल पुलिसकर्मियों का हौसला बढ़ाते हुए तत्काल प्राथमिक उपचार के बाद भेजा अस्पताल*

पुलिस के मुताबिक दोनों छात्रों के शरीर पर कहीं भी चोट के निशान नहीं मिले। पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है कि यह आत्महत्या का मामला है या हत्या का। दोनों लड़कों के परिवारों ने किसी पर हत्या का संदेह नहीं जताया है। अधिकारियों ने कहा कि जांच के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।