उत्तराखंड क्राइम रामनगर

कालागढ़ रेंज में मादा बाघ की मृत्यु: प्रारंभिक जाँच में वृद्धावस्था का कारण

Spread the love

कालागढ़ रेंज में मादा बाघ की मृत्यु: प्रारंभिक जाँच में वृद्धावस्था का कारण

रोशनी पाण्डेयप्रधान संपादक

 

दिनांक 03.07.2024 को कार्बेट टाइगर रिजर्व के अन्तर्गत कालागढ़ रेंज में धारा ब्लॉक, धारा बीट क०सं० 12 में गश्त के दौरान गश्तीदल को एक मादा बाघ मृत अवस्था में पायी गयी। जिसके उपरान्त गश्तीदल द्वारा तत्काल उच्चाधिकारियों को सूचित किया गया। मृत मादा बाघ की उम्र लगभग 09 वर्ष है। मृत मादा बाघ का शव विच्छेदन आज दि०-04.07.2024 को कालागढ़ रेंज में निम्नानुसार पशुचिकित्साधिकारियों 1-डॉ० दुष्यंत शर्मा, वरिष्ठ पशुचिकित्साधिकारी, कार्बेट टाइगर रिजर्व, 2-डॉ0 राहुल सती, वरिष्ठ पशुचिकित्साधिकारी, पश्चिमी वृत्त, हल्द्वानी का पैनल गठित कर कार्यवाही की गयी।

यह भी पढ़ें 👉  रामनगर में अवैध रूप से कच्ची शराब का धंधा जोरों पर तस्करों के हौसले इतने बुलंद की पत्रकार पर किया जानलेवा हमला।

 

 

जिसके उपरान्त वरिष्ठ पशुचिकित्साधिकारी पैनल द्वारा अवगत कराया गया कि प्रथम दृष्टया उक्त मादा बाघ की मृत्यु प्राकृतिक रूप से वृद्धावस्था के कारण हुई है। बाघ के अंगों के सैम्पल को परीक्षण हेतु आई०वी०आर०आई० इज्जतनगर, बरेली भेजा गया है। इस दौरान मौके पर  दिगन्थ नायक, उप निदेशक, कार्बेट टाइगर रिजर्व, डॉ० शालिनी जोशी, उप प्रभागीय वनाधिकारी, कालागढ,  आकाश गंगवार, वन क्षेत्राधिकारी, कालागढ़ (प्रशिक्षु अधिकारी, भा०व०से०),  कुन्दन सिंह खाती, एन०टी०सी०ए० द्वारा नामित सदस्य,  ए०जी० अन्सारी, मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक, उत्तराखण्ड देहरादन द्वारा नामित सदस्य, डब्लू० डब्लू०एफ० के नामित सदस्य मनोज सती, प्रतिनिधि द कार्बेट फाउण्डेशन,  महेश चन्द्र जोशी, वन दरोगा, ललित मोहन चौधरी, वन दरोगा,  वजाहद अली, वन आरक्षी, कालागढ़ रेंज व अन्य कर्मचारी की उपस्थिति में शव का मौका पंचनामा तैयार कर उपस्थित अधिकारियों / कर्मचारियों के समक्ष शव को एन०टी०सी०ए० के मानकों के अनुसार समस्त अंगों सहित जलाकर नष्ट कर दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  दुर्लभ प्रजाति के कछुओं की तस्करी करने वाले एक तस्कर को पुलिस ने किया गिरफ्तार 200 से अधिक कछुए बरामद।