उत्तराखंड जरा हटके नैनीताल

“जिला योजनाओं में नई ऊर्जा: वंदना सिंह के मार्गदर्शन में गति और सही दिशा”

Spread the love

“जिला योजनाओं में नई ऊर्जा: वंदना सिंह के मार्गदर्शन में गति और सही दिशा”

रोशनी पांडे  – प्रधान संपादक

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने जिला कार्यालय सभागार, नैनीताल में जिला योजना अंतर्गत राज्य सेक्टर ,केन्द्र पोषित एंव वाह्य सहायतित योजनाओं के विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्यों में गति लाने और योजनाओं के लिए अवमुक्त धनराशि को शतप्रतिशत व्यय करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निर्माणाधीन कार्यों का अधिकारी स्वंय निरीक्षण करें, ताकि कार्यों की गुणवता बनी रहे।

 

यह भी पढ़ें 👉  कैंची मेले की सुरक्षा की दृष्टिगत नैनीताल पुलिस अलर्ट, वाहन चैकिंग जारी*

 

 

जिलाधिकारी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला योजना के अंतर्गत आवश्यक संशोधन संबंधी प्रस्ताव तैयार कर 03, दिनों के भीतर अर्थ एवं संख्या अधिकारी को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने समस्त विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो कार्य अपूर्ण हैं, उनमें विशेष प्रयास कर कार्यों की प्रगति में आ रही समस्याओं का आपसी समन्वय से निराकरण करते हुए 15 फरवरी तक सभी लंबित कार्यों को पूर्ण कर लिया जाए। इसके अतिरिक्त समय समय पर कार्यों की प्रगति से भी अवगत कराये जाने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्य सचिव ने 986.50 लाख के विधानसभा गैरसैंण परियोजना को शीघ्र पूरा करने के  दिए निर्देश 

 

 

 

इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी द्वारा 20 सूत्रीय योजनाओं के संबंध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी ली गई। जिलाधिकारी ने लोनिवि, जल जीवन मिशन और पेयजल के सभी खण्डों में धीमी कार्य प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्यों में तेजी लाने के निर्देश भी दिये।

 

 

 

उन्होंने 20 सूत्रीय कार्यक्रम की समीक्षा करतें हुए सभी विभागीय अधिकारियों को लक्ष्य पूर्ण करते हुए ए श्रेणी में आने के निर्देश दिये। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी विभाग की वजह से जनपद की प्रगति प्रभावित न हो, समस्त विभागाधिकारी पूरी जिम्मेदारी के साथ अपने अपने दायित्वों का निर्वहन करें।जिलाधिकारी ने पीएमजीएसवाई को सड़क कार्यों में तेजी लाने के और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को 100% टीकाकरण लक्ष्य को प्रात करने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  जिलाधिकारी ने क्षेत्र पंचायत बैठकों का रोस्टर निर्धारित किया है।

 

 

इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक, अर्थ एवं संख्या अधिकारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी, जिला विकास अधिकारी, मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, पोओ उरेडा आदि अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।