उत्तराखंड जरा हटके नैनीताल

हरी झंडी दिखाकर यातायात जागरूकता रैली: एसएसपी नैनीताल का हल्द्वानी में प्रवासियों को सड़क सुरक्षा के महत्व का संदेश

Spread the love

हरी झंडी दिखाकर यातायात जागरूकता रैली: एसएसपी नैनीताल का हल्द्वानी में प्रवासियों को सड़क सुरक्षा के महत्व का संदेश

रोशनी पांडे  – प्रधान संपादक

एसएसपी नैनीताल ने यातायात जागरूकता रैली को हल्द्वानी में हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, सड़क सुरक्षा माह में जनता को दिया विशेष संदेश–यातायात नियमों को पालन करने का लें संकल्प

 

प्रहलाद नारायण मीणा, एस.एस.पी. नैनीताल के निर्देशन में नैनीताल पुलिस द्वारा 15 जनवरी से “34वां सड़क सुरक्षा माह” का आयोजन किया जा रहा है। जिसको सार्थक रूप देने के लिए आज एसएसपी नैनीताल द्वारा हल्द्वानी कोतवाली से यातायात जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में जनपद चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और गतिमान कार्यों की समीक्षा की।

 

यातायात जागरूकता रैली में सीपीयू, यातायात, पेट्रोल कार, हल्द्वानी सर्किल के थानों, 112 वाहन तथा चीता मोबाइल को शामिल किया गया। रैली का समापन हाइडल गेट पर किया गया। रैली से पूर्व एसएसपी नैनीताल द्वारा स्थानीय लोगों तथा ट्रैफिक वॉलंटियरो के मध्य जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित किया। रैली के उपरांत हल्द्वानी शहर में 19 मुख्य चौराहों पर पुलिस टीमों द्वारा जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए। सभी वाहन चालकों और स्थानीय लोगों को यातायात नियमों के सम्बन्ध में जागरूक किया गया, तथा जागरुकता पंपलेट/ बैनर वितरित किए गए। इसी क्रम में जनपद के सभी थाना/चौकी क्षेत्र में पुलिस द्वारा वृहद स्तर पर यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में गढ़वाल आयुक्त/अध्यक्ष, चारधाम यात्रा प्रशासन ने लिया निर्णय

 

जागरूकता रैली कार्यक्रम में  हरबंस सिंह, एसपी सिटी हल्द्वानी, श्रीमती संगीता, सीओ लालकुआं,  राकेश माहरा प्रभारी निरीक्षक यातायात हल्द्वानी,  जगदीश राम कोहली, प्रभारी सीपीयू, हल्द्वानी सर्किल के सभी थाना प्रभारी, यातायात पुलिस, सीपीयू, थानों की चीता मोबाइल, डॉयल 112 तथा थाना पुलिस बल, पुलिस वॉलंटियर व स्थानीय लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं आय़ुक्त दीपक रावत ने जल संस्थान, जल निगम आदि अधिकारियों के साथ जल जीवन मिशन (द्वितीय फेस) के कार्यों की समीक्षा की।