चंपावत उत्तराखंड जरा हटके

जिलाधिकारी  नवनीत पांडे ने सड़कों के सुधारीकरण के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए”

Spread the love

जिलाधिकारी  नवनीत पांडे ने सड़कों के सुधारीकरण के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए”

रोशनी पांडेय – प्रधान संपादक

जिलाधिकारी नवनीत पांडे द्वारा वर्तमान में किए जा रहे सुखीढांग-डांडा मीनार सड़क के सुधारीकरण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को सड़क सुधारीकरण व डामरीकरण कार्यों को तेजी से करने के निर्देश दिए गए। इस दौरान जिलाधिकारी ने सड़क मार्ग में स्थित विभिन्न स्थानों में स्थानीय जनता से मिलकर उनकी समस्याएं भी सुनी। जिलाधिकारी ने वर्तमान में धूरा से टांड़ तक 30 किलोमीटर सड़क में होने वाले डामरीकरण सुधारीकरण व नाली निर्माण कार्यों के बारे में लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता से जानकारी ली। लोक निर्माण विभाग से आए सहायक अभियंता ने अवगत कराया की 30 किलोमीटर सड़क में वर्तमान में कोजवे निर्माण, दीवार निर्माण व नाली निर्माण कार्य के साथ ही डामरीकरण हेतु सड़क में मिट्टी बिछाने का कार्य किया जा रहा है और संपूर्ण कार्य अगले वर्ष तक पूर्ण हो जाएगा।

 

जिलाधिकारी ने कहा कि यह सड़क एक महत्वपूर्ण सड़क है जिसका लाभ दूरस्थ क्षेत्र के ग्राम वासियों के साथ-साथ प्रसिद्ध धार्मिक रीठा साहिब आने वाले श्रद्धालुओं को मिलेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि सड़क में पूर्ण गुणवत्ता एवं समयबद्धता का संपूर्ण ध्यान रखा जाए। जिलाधिकारी द्वारा भ्रमण के दौरान सुखीढांग के धुरा में स्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की मूर्ति में वीर सेनानियों को नमन कर श्रंद्धाजलि दी गई।

 

जिलाधिकारी द्वारा क्षेत्र भ्रमण के दौरान ग्राम बुडम में जल जीवन मिशन के अंतर्गत निर्मित पेयजल योजना से सभी घरों को पर्याप्त पेयजल उपलब्ध कराने, बयानधूरा बाबा मंदिर पैदल मार्ग की मरम्मत व मंदिर क्षेत्र व मार्ग में फूलों के पौध रोपित किए जाने की मांग क्षेत्र वासियों द्वारा रखी गई, जिस पर जिलाधिकारी ने ग्रामीणों की मांग पर शीघ्र कार्रवाई करने की बात कहीं।
भ्रमण के दौरान ग्राम टांड में पूर्व ग्राम प्रधान खिमानंद गढ़कोटी द्वारा टांड़ स्वास्थ्य उपकेंद्र में एक फार्मासिस्ट की शीघ्र नियुक्ति करने की मांग की गई, रीठा साहिब में गुरुद्वारा के प्रबंधक बाबा श्याम सिंह द्वारा बस स्टेशन से गुरुद्वारा तक क्षतिग्रस्त मार्ग की मरम्मत किए जाने व नाली निर्माण किए जाने की मांग जिलाधिकारी के सम्मुख रखी गई, पूर्व सदस्य जिला पंचायत भोला सिंह द्वारा मां नंदा देवी व शीला देवी मंदिर को मानसखंड मंदिर माला में शामिल करने तथा सामाजिक कार्यकर्ता हयात राम द्वारा बिनवाल गांव से गोलडांडा-कालियाधूरा मोटर मार्ग का शीघ्र निर्माण करने तथा राजकीय इंटर कॉलेज चौड़ामेहता में अध्यापकों की तैनाती की मांग जिलाधिकारी के सम्मुख रखने के साथ ही क्षेत्र की अन्य समस्याओं से अवगत कराया।
इस दौरान जिलाधिकारी ने रीठा साहिब में सिखों के विश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल गुरुद्वारा जाकर मत्था टेका व जनपद की खुशहाली व सुख- समृद्धि की प्रार्थना की। इस दौरान रीठासाहिब गुरुद्वारा के प्रबंधक बाबा श्याम सिंह जी द्वारा जिलाधिकारी को सरोफा भेंट किया गया। जिलाधिकारी के रीठासाहिब क्षेत्र निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा रीठासाहिब में कुलियाल गांव, पट्टी साल की पटवारी चौकी का निरीक्षण किया गया। पटवारी चौकी के जीर्ण शीर्ण स्थिति को देखते हुए उसके सुधारीकरण व मरम्मत आदि कार्य का प्रस्ताव शीघ्र तैयार करने के निर्देश लोक निर्माण विभाग के अवर अभियंता को दिए।

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री अजय भट्ट ने सुशीला तिवारी अस्पताल में सड़क दुर्घटना में घायलों का हाल-चाल जाना

 

जिलाधिकारी द्वारा थाना रीठा साहिब का भी निरीक्षण किया गया। जिसमें आवासीय परिसर की भूमि हेतु राजस्व विभाग के उप निरीक्षक को निर्देश दिए की आवासीय परिसर के लिए भूमि चिन्हित कर शीघ्र रिपोर्ट उपलब्ध कराएं। कुलियाल गांव स्थित जोडियार-बसोला गधेरे के मलबे से पटवारी चौकी, थाना व आवासीय भवनों को खतरा उत्पन्न हो रहा है। जिस हेतु जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के अवर अभियंता को आपदा न्यूनीकरण से प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रीठा साहिब का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य केंद्र में पेयजल की समस्या के तत्काल समाधान हेतु जल संस्थान को निर्देश दिए की एक सप्ताह के भीतर पेयजल की समस्या का समाधान किया जाए। इसके अलावा जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य केंद्र के आसपास ग्राम पंचायत के निजी व्यय से तत्काल झाड़ी कटान का कार्य कराए जाने के निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य केंद्र में सफाई व्यवस्था व दवा की ससमय उपलब्धता रखने के निर्देश देने के साथ ही रहे साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी को स्वास्थ्य केंद्र में पंखे व अन्य विद्युत उपकरणों के लिए प्रस्ताव शीघ्र तैयार करने हेतु भी निर्देशित किया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक डॉ नरेश गौतम द्वारा जिलाधिकारी को चिकित्सालय संबंधी अन्य जानकारियां दी गई। उन्होंने अवगत कराया कि रीठासाहिब स्वास्थ्य केंद्र में दवाओं व 108 वाहन की उपलब्धता है।
जिलाधिकारी द्वारा मानसखण्ड मंदिर माला में सम्मिलित वारसी स्थित रुद्रेश्वर गुफा के भी दर्शन कर पूजा की गयी। इस दौरान उन्होंने शिला देवी मंदिर की भी दर्शन कर पूजार्चना की। इस दौरान विभिन्न स्थानों में जिलाधिकारी के आगमन पर स्थानीय लोगों द्वारा स्वागत एवं अभिनंदन किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड की पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वर्गीय इंदिरा हृदेश की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका भावपूर्ण स्मरण किया।

 

भ्रमण के दौरान रीठा साहिब के क्षेत्रवासियो द्वारा जिलाधिकारी को क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं लधिया घाटी (रीठा साहिब) में महाविद्यालय खोले जाने हेतु, प्रसिद्ध शीला देवी व नंदा देवी मंदिरों का सुधारीकरण, शिला देवी मंदिर में स्नान घाट बनाये जाने, रीठा साहिब में माँ शिला देवी रोड में झाड़ी से होने वाले सड़क दुर्घटना से बचने हेतु झाड़ी कटान व उक्त स्थान पर स्पीड ब्रेकर निर्माण के अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चौड़ामेहता का उच्चीकरण व आयुष्मान कार्ड आदि समस्याओं से अवगत कराया। साथ ही लधिया घाटी रीठा साहिब इंटर कॉलेज में भौतिक, अंग्रेजी, राजनीति के विभिन्न विषयों के शिक्षकों के रिक्त पदों पर भी नियुक्ति की मांग की गई। इसके अलावा ग्राम पंचायत धरसों की ग्राम प्रधान माधवी देवी द्वारा अवगत कराया गया कि ग्राम पंचायत धरसों में रीठा बिनवाल गांव से समाधि स्थल, किमखेत (पेरवा) से पंचायत घर, जूनियर हाई स्कूल धरसों से गांव तक 4.25 किलोमीटर सड़क के निर्माण कराए जाने की आवश्यकता है जिससे क्षेत्र के स्थानीय उत्पादों संतरा, नींबू, माल्टा व केले को बाजार मिलने व काश्तकारों की आय दुगना करने में यह सड़क सहायक होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्रामीणों की उक्त सभी समस्याओं का समयबद्ध होकर समाधान किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  राजभवन नैनीताल में हुआ 19वें गवर्नर्स कप गोल्फ टूर्नामेंट: गोल्फरों ने साझा किया अपना अनूठा अनुभव

 

इस दौरान नायब तहसीलदार ईश्वर सिंह भीमा, प्रियंका पांडे, थाना प्रभारी दीवान सिंह, अवर अभियंता पीडब्ल्यूडी, स्थानीय जनप्रतिनिधि समेत पूर्व जिला पंचायत सदस्य भोला सिंह, जगदीश परगई, क्षेत्र पंचायत सदस्य ककनई पवन समेत ग्रामीण व अन्य मौजूद रहे।