उत्तराखंड जरा हटके नैनीताल

केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य  मंत्री अजय भट्ट ने भाजपा क़े वरिष्ठ नेता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भाजपा, पूर्व मंडी परिषद अध्यक्ष पूरन चंद्र शर्मा जी का आज आकस्मिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।

Spread the love

केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य  मंत्री अजय भट्ट ने भाजपा क़े वरिष्ठ नेता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भाजपा, पूर्व मंडी परिषद अध्यक्ष पूरन चंद्र शर्मा जी का आज आकस्मिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।

रोशनी पांडे प्रधान संपादक

केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री व नैनीताल उधम सिंह नगर संसदीय क्षेत्र से सांसद  अजय भट्ट ने भाजपा क़े वरिष्ठ नेता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भाजपा, पूर्व मंडी परिषद अध्यक्ष आदरणीय पूरन चंद्र शर्मा जी का आज आकस्मिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। श्री भट्ट ने उनके भाई कैलाश शर्मा और पुत्री से दूरभाष पर वार्ता कर शोक संतृप्त परिवार को ढांढस बधाया है।

यह भी पढ़ें 👉  आईटीआई पुलिस ने प्रतिबंधित गौवंशीय मांस के साथ 02 तस्करों को धर दबोचा

 

 

भट्ट ने बताया कि आदरणीय पूरन चंद्र शर्मा जी के आकस्मिक निधन से भाजपा परिवार को अपूरणीय क्षति पहुंची है श्री भट्ट ने बताया कि श्री शर्मा जी के संघर्ष और त्याग अभिभाजित उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में पार्टी व जनहित में काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा। श्री भट्ट ने कहा कि अभिभाजित उत्तर प्रदेश में वह पर्वतीय विकास मंत्री थे और पहाड़ों के विकास को लेकर उनका योगदान बुलाया नहीं जा सकता ।माननीय शर्मा जी कुछ दिनों से अस्वस्थ थे
आदरणीय शर्मा जी 1991मे अल्मोड़ा से विधायक चुने गए 2000मे भाजपा उत्तराखंड क़े प्रदेश अध्यक्ष रहे और आदरणीय शर्मा जी उत्तराखण्ड मंडी परिषद क़े अध्यक्ष भी रहे।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने अवैध खनन पर सख्त निगरानी तथा वैध खनन से राजस्व बढ़ाने के लिए एमडीटीएसएस (माइनिंग डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन एण्ड सर्विलेन्स सिस्टम ) लागू करने के प्रस्ताव पर सहमति दी

 

आदरणीय शर्मा जी ने पार्टी क़े विभन्न पदों पर रह कर कार्य करते हुए भाजपा क़े अपना अमूल्य योगदान दिया, आपने राम मंदिर निर्माण, एवं उत्तराखंड राज्य क़े निर्माण क़े आदोलन मे योगदान दिया एवं दौरान आप जेल भी गए। श्री भट्ट ने आदरणीय शर्मा जी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए उन शोक संतृप्त परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने कि ईश्वर से प्रार्थना की है। साथ ही उनके भाई कैलाश शर्मा जी एवं पुत्री से दूरभाष पर बात कर इस दुख की घड़ी में उन्हें ढाढ़स बधाया।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में गढ़वाल आयुक्त/अध्यक्ष, चारधाम यात्रा प्रशासन ने लिया निर्णय